Breaking News
Home / top / पीएम मोदी ने राज्यसभा में दिए महाराष्ट्र के सियासी भविष्य के संकेत

पीएम मोदी ने राज्यसभा में दिए महाराष्ट्र के सियासी भविष्य के संकेत

New Delhi :  महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन का ऊंट किस करवट बैठने वाला है, इसे फिलवक्त केंद्रीय नेताओं के बयानों से समझा जा सकता है. शिवसेना को समर्थन के मुद्दे पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से बात करने दिल्ली पहुंचे एनसीपी नेता शरद पवार ने सूबाई सरकार के मसले पर दो टूक कह दिया कि बीजेपी-शिवसेना ने मिल कर चुनाव लड़ा था, वहीं जानें. इसके बाद राज्यसभा के 250वें सत्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनसीपी की तारीफ कर संकेत दे दिए कि महाराष्ट्र का सियासी गणित किस करवट बैठने वाला है. गृह मंत्री अमित शाह का रविवार का ‘डोंट वरी’ वाला बयान तो नेताओं की पेशानी पर बल डालने वाला रहा ही है.

शरद पवार के बयान ने बदले सियासी समीकरण
सोमवार सुबह एनसीपी प्रमुख शरद पवार सोनिया गांधी से मुलाकात करने के एजेंडे पर जब दिल्ली पहुंचे, तो उन्होंने पत्रकारों से साफ-साफ कह दिया कि लोकसभा चुनाव समेत महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव बीजेपी-शिवसेना ने साथ-साथ लड़ा था. इधर एनसीपी और कांग्रेस ने साथ मिल कर बतौर गठबंधन चुनाव लड़ा था. अब उन्हें अपना रास्ता तय करना है, जबकि हम अपनी राजनीति करेंगे. शिवसेना को समर्थन के मसले पर उन्होंने लगभग झुंझलाते हुए कहा था कि शिवसेना के बारे में मुझे पता नहीं. जाहिर है इस बयान ने एनसीपी-कांग्रेस समर्थन की बाट जोह रही शिवसेना के अरमानों पर फिलहाल तो पानी फेर ही दिया है.

पीएम मोदी ने राज्यसभा में एनसीपी की करी तारीफ
पवार के इस बयान के चंद घंटों बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा में अपने संबोधन के दौरान दबे-छिपे शब्दों में महाराष्ट्र के सियासी गणित के संकेत दे दिए. राज्यसभा के 250वें सत्र को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘आज इस अवसर पर मैं दो पार्टियों एनसीपी और बीजद की तारीफ करना चाहूंगा. दोनों ने ही संसदीय परंपराओं के अनुकूल आचार-व्यवहार अपना रखा है. इन दोनों पार्टियों ने अपने स्तर पर वेल में आकर हल्ला-गुल्ला करने से परहेज रखा है. इसके बावजूद बेहद प्रभावी तरीके से दोनों अपनी-अपनी बात विभिन्न मसलों पर उठाती रही हैं. मुझ समेत अन्य दलों को इन दोनों ही दलों से सीखने की जरूरत है.’

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *