Breaking News
Home / top / भारतीय अर्थव्यवस्था को लगा एक और झटका! दूसरी तिमाही में विकास दर में आई बड़ी गिरावट

भारतीय अर्थव्यवस्था को लगा एक और झटका! दूसरी तिमाही में विकास दर में आई बड़ी गिरावट

नई दिल्ली। भारतीय अर्थव्यवस्था इस समय सुस्ती के दौर से गुजर रही है। सरकार की ओर से पिछले कुछ समय से इसे पटरी पर लाने की कोशिश हो रही है, लेकिन बात पूरी तरह से नहीं बन पा रही। अब इसे लेकर एक और झटका लगा है। चालू वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही में भारत की विकास दर में बड़ी गिरावट आई है। अब सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का आंकड़ा 4.5 फीसदी पहुंच गया है, जो सात साल की सबसे बड़ी गिरावट है।

इस वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी की दर 5 फीसदी पर थी। यानी तीन माह में जीडीपी की दर में 0.5 फीसदी की गिरावट आई है। जुलाई-सितंबर तिमाही में आर्थिक विकास दर 4.5 फीसदी रही जबकि एक साल पहले इस समय आर्थिक विकास दर 7 फीसदी थी। सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कायान्र्वयन मंत्रालय ने शुक्रवार को आंकड़े जारी किए। कोर सेक्टर और औद्योगिक वृद्धि दोनों की हालत अगस्त और सितंबर के दौरान खराब रही।

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने एक रिपोर्ट जारी की थी, जिसमें दूसरी तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर केवल 4.2 फीसदी आंकी गई थी। बैंक इसे कम ऑटोमोबाइल बिक्री, एअर ट्रैफिक में मंदी, कोर सेक्टर की खस्ता हालत और निर्माण एवं बुनियादी ढांचे के निवेश में गिरावट को वजह मानता है।

उल्लेखनीय है कि किसी भी देश की आर्थिक सेहत को मापने का सबसे अहम पैमाना जीडीपी के आंकड़े होते हैं। ये मुख्य तौर पर आठ औद्योगिक क्षेत्रों कृषि, खनन, मैन्युफैक्चरिंग, बिजली, कंस्ट्रक्शन, व्यापार, रक्षा और अन्य सेवाओं के क्षेत्र के होते हैं। इसके बाद सीएसओ जो आंकड़े जारी करता है उसे ही आधिकारिक माना जाता है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *