Breaking News
Home / top / नागरिकता कानून पर बवाल के बीच बोले पीएम मोदी- हिंसक प्रदर्शन दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद

नागरिकता कानून पर बवाल के बीच बोले पीएम मोदी- हिंसक प्रदर्शन दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद

नागरिकता कानून को लेकर जारी विरोध प्रदर्शन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि नागरिकता संशोधन अधिनियम पर हिंसक विरोध दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद है। पीएम ने कहा है कि चर्चा और बहस लोकतंत्र का हिस्सा है। सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाना सही नहीं है।

पीएम मोदी ने आगे कहा है कि समय की यही मांग है कि हम सब देश के विकास और हर भारतीय को सशक्त करने के लिए साथ मिलकर काम करें। हम किसी स्वार्थी समूह को खुद को बांटने नहीं दे सकते। संशोधित नागरिकता कानून स्वीकार्यता, सौहार्द, करुणा एवं भाईचारे की भारत की सदियों पुरानी संस्कृति की व्याख्या करता है।

पीएम मोदी ने एक के बाद एक कई ट्वीट करते हुए कहा है कि मैं अपने साथी भारतीयों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि सीएए किसी भी धर्म के भारत के नागरिक को प्रभावित नहीं करता है। किसी भारतीय को इस अधिनियम के बारे में चिंता करने की कोई बात नहीं है। यह अधिनियम केवल उन लोगों के लिए है, जिन्होंने वर्षों से उत्पीड़न का सामना किया है और भारत को छोड़कर उनके पास जाने के लिए कोई अन्य जगह नहीं है। यह शांति, एकता और भाईचारा बनाए रखने का समय है। सभी से अपील है कि किसी भी तरह की अफवाह और झूठ से दूर रहें।

गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों की जामिया मिल्लिया इस्लामिया के समीप न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में पुलिस के साथ झड़प हो गई, जिसमें प्रदर्शनकारियों ने डीटीसी की चार बसों और दो पुलिस वाहनों में आग लगा दी। झड़प में छात्रों, पुलिसकर्मियों और दमकलकर्मी समेत करीब 60 लोग घायल हो गए। पुलिस कार्रवाई के खिलाफ विश्वविद्यालय के छात्रों ने सोमवार को कड़कड़ाती ठंड में जामिया के प्रवेश द्वार के बाहर कमीज उतारकर प्रदर्शन भी किया।

About admin