Breaking News
Home / top / जामिया हिंसा मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा- आप छात्र हैं तो आपको हिंसा का अधिकार नहीं मिल जाता है

जामिया हिंसा मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा- आप छात्र हैं तो आपको हिंसा का अधिकार नहीं मिल जाता है

नई दिल्ली। सुर्वोच्च न्यायालय में जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की हिंसात्मक प्रदर्शन काे लेकर सीजेआई काफी सख्ती दिखाई है। मुख्य न्यायाधीश एस. ए. बोबड़े ने कहा कि हम किसी को भी आरोपी नहीं बता रहे हैं, बस हम कह रहे हैं कि हिंसा रुकनी चाहिए। हम किसी के खिलाफ कुछ नहीं कह रहे हैं, हम ये भी नहीं कह रहे हैं कि पुलिस या छात्र निर्दोष हैं, CJI ने कहा कि आप छात्र हैं इसलिए आपको हिंसा का अधिकार नहीं मिल जाता है। अगर हिंसा नहीं रुकी तो वह इस मामले में सुनवाई नहीं करेंगे। प्रधान न्यायाधीश बोबड़े ने कहा कि वह नागरिकता संशोधन कानून, 2019 को लेकर दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय और उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में हुए विरोध प्रदर्शन पर मंगलवार यानी 17 दिसंबर को सुनवाई करेगा।

मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता इंदिरा जयसिंग ने जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की घटनाओं का उल्लेख किया। जयसिंह ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि वह इस मुद्दे पर संज्ञान लेते हुए यह कहे कि यह देश भर में एक बहुत ही गंभीर मानवाधिकार उल्लंघन है।

About admin