Breaking News
Home / top / अखिल गोगोई के गुवाहाटी स्थित आवास पर NIA का छापा, कई दस्तावेज जब्त

अखिल गोगोई के गुवाहाटी स्थित आवास पर NIA का छापा, कई दस्तावेज जब्त

गुवाहाटी : राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने गिरफ्तार आरटीआई कार्यकर्ता और किसान नेता अखिल गोगोई के गुवाहाटी स्थित आवास पर बृहस्पतिवार को छापा मारकर विभिन्न दस्तावेज और एक लैपटॉप जब्त किये. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

विभिन्न किसान संगठनों को सलाह देने वाले कार्यकर्ता अखिल को नागरिकता (संशोधन) कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों के दौरान गिरफ्तार किया गया था. आतंकवाद रोधी बल एनआईए के अधिकारियों ने गुवाहाटी के निजारापाड़ा इलाके में गोगोई के घर छापेमारी की और उनके पैन कार्ड की प्रतियां, एसबीआई डेबिट कार्ड, मतदाता फोटो पहचान पत्र और बैंक की पासबुक जब्त कर ली. सुबह सात बजे खत्म हुई छापेमारी तीन घंटे तक चली, जिसके बाद गोगोई की पत्नी गीताश्री तामुली ने पत्रकारों को जब्त की गयी चीजों की सूची दिखाई, जिनमें सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार द्वारा जारी पंजीकरण प्रमाण पत्र, एएसआई अधीक्षण पुरातत्वविद मिलन कुमार चौले का पत्र और जेल डायरी 2014 समेत कई महत्वपूर्ण दस्तावेज शामिल हैं.

तामुली ने कहा, वे (एनआईए) हमारे घर में रखी फाइलें देखना चाहते थे और उनमें से कुछ को अपने साथ ले गये. मैंने उनसे जब्त की गयी चीजों की प्रतियां देने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया. मुझसे यह भी पूछा गया कि अखिल पहले जब जेल गये थे तो क्या उग्रवादियों से मिले थे. तामुली ने कहा कि एनआईए की टीम ने काजीरंगा में केएमएसएस आर्किड पर्यावरण पार्क से संबंधित दस्तावेज भी मांगे, लेकिन उन्होंने बताया कि उन्हें उनके बारे में कोई जानकारी नहीं है. केएमएसएस के अध्यक्ष राजू बोरा ने बताया कि शहर के गांधी बस्ती इलाके में स्थित के कृषक मुक्ति संग्राम समिति (केएमएसएस) के कार्यालय में भी छापेमारी की गयी जिसमें चीन के क्रांतिकारी नेता माओ जेदोंग के जीवन पर आधारित पुस्तक और मार्क्सवादी किताब समेत नौ पुस्तकें तथा केएमएसए की पुस्तिकाएं जब्त की गयीं.

केएमएसएस के नेता गोगोई की एनआईए हिरासत शुक्रवार को खत्म हो रही है. उन्हें नयी दिल्ली से लाकर यहां एक अदालत में पेश किया जायेगा. एनआईए ने गोगोई पर आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने और नागरिकता (संशोधन) विधेयक को विभिन्न समूहों के बीच द्वेष पैदा करने के लिए इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है जो कि राष्ट्रीय अखंडता के खिलाफ है. उन पर प्रतिबंधित भाकपा (माओवाद) से जुड़े होने का भी आरोप है.

About admin