Breaking News
Home / top / ‘जन गण मन’ ने देशवासियों को एकजुट रहने के लिए प्रेरित किया : ममता

‘जन गण मन’ ने देशवासियों को एकजुट रहने के लिए प्रेरित किया : ममता

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहा कि राष्ट्रगान ‘जन गण मन’ ने देशवासियों को एकजुट रहने के लिए प्रेरित किया है।

ममता ने नोबेल पुरस्कार से सम्मानित रवींद्रनाथ टैगोर को याद किया जिन्होंने ‘जन गण मन‘ की रचना की। 1911 में आज के दिन पहली बार इसे गाया गया था।

ममता ने टैगोर की रचना ‘आमार सोनार बांग्ला‘ का भी जिक्र किया जिसे 1905 में अंग्रेजों द्वारा बंगाल के विभाजन के विरोध में लिखा गया था। उन्होंने कहा कि बंगाल के विभाजन के खिलाफ टैगोर के विरोध के तरीके ने लोगों को रास्ता दिखाया।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ 1911 में आज के दिन पहली बार ‘जन गण मन’ गाया गया था। हमारे राष्ट्रगान ने हमें वर्षों से एकजुट किया है और राष्ट्र को प्रेरित किया है। इसका रचना रवींद्रनाथ टैगोर ने की थी। वह हमारी शान हैं।

‘जन गण मन‘ पहली बार कांग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन में गाया गया था।

24 जनवरी, 1950 को संविधान सभा ने गीत ‘भारत भाग्य विधाता‘ के पहले हिस्से को राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार किया था। ‘आमार सोनार बांग्ला‘ को 1971 में बांग्लादेश सरकार ने राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार किया था।

About admin