Breaking News
Home / top / जेएनयू हिंसा: महिला आयोग ने छात्राओं पर हमले को लेकर दिल्ली पुलिस से मांगा जवाब
PTI7_24_2018_000064B

जेएनयू हिंसा: महिला आयोग ने छात्राओं पर हमले को लेकर दिल्ली पुलिस से मांगा जवाब

नई दिल्ली : जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) कैंपस में रविवार शाम हुई हिंसा के मामले में महिला आयोग ने दिल्ली पुलिस को समन जारी किया है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने छात्राओं पर हुए हमले को लेकर पुलिस से जवाब देने को कहा है। आयोग की ओर से कहा गया है कि जिस तरह से छात्राओं के साथ मारपीट हुई है, उसको लेकर वो चिंतित हैं।

दिल्ली स्थित जेएनयू के कैंपस में 50-60 नकाबपोश बदमाशों ने रविवार शाम हमला कर दिया था। इस हमले में 40 से ज्यादा छात्र और शिक्षक घायल हुए हैं। जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष को हमले में काफी चोटें आई हैं। एक महिला शिक्षक का भी सिर फटा हुआ है। कई घंटे तक मुंह पर कपड़े बांधे इन लोगों ने कैंपस में तांडव किया। घटना में दिल्ली पुलिस और विश्वविद्यालय के वीसी की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे हैं। छात्रों को कहना है कि जानबूझकर वीसी ने पुलिस को कैंपस में आने की इजाजत देने में देर की। इससे हमलावर फरार हो गए। जेएनयू कैंपस में छात्रों और शिक्षकों पर हमले के बाद जेएनयू छात्र संघ ने आरएसएस के छात्र इकाई एबीवीपी पर हिंसा करने का आरोप लगाया है।

वहीं एबीवीपी ने कहा है कि लेफ्ट से जुड़े छात्रों ने हिंसा की है। बता दें कि जेएनयू कैंपस में रविवार की शाम दहशत भरी रही। हमलावरों के कई वीडियो और फोटोज सामने आए हैं, जहां वो हाथों में हॉकी, डंडे लिए घूम रहे हैं और कैंपस में तोड़ फोड़ करते नजर आ रहे हैं। कई विपक्षी दलों ने मामले पर कहा है कि पूरी तरह केंद्र के इशारे पर ये सब हो रहा है। गृहमंत्री शाह पर भी कई संगठनों ने यूनिवर्सिटी को बर्बाद करने का आरोप लगाया है। हिंसा में घायल हुए छात्रों में ज्यादातर को एम्स से छुट्टी मिल गई है। उधर, प्रदर्शनकारी छात्रों पर नकाबपोशों के हमले के विरोध में मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया, कोलकाता की जाधवपुर यूनिवर्सिटी और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन हुए। मामले पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल से कहा है कि वे जेएनयू के प्रतिनिधियों को बुलाकर चर्चा करें।

About admin