Breaking News
Home / top / कांग्रेस नेतृत्व पर छिड़ी जंग- संजय निरुपम ने राहुल गांधी को लेकर दिया ऐसा बयान

कांग्रेस नेतृत्व पर छिड़ी जंग- संजय निरुपम ने राहुल गांधी को लेकर दिया ऐसा बयान

नई दिल्‍ली। कांग्रेस पार्टी में गांधी परिवार के खिलाफ और समर्थन में एक बार फिर से बहस शुरू हो गई। शीला दीक्षित के बेटे  संदीप दीक्षित और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व पर सवाल उठाया है। इतना ही नहीं, उन्होंने पार्टी के स्थायी अध्यक्ष के चुनाव की भी बात कही है। इस बीच अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम ने कहा है कि सिर्फ राहुल गांधी ही पार्टी का नेतृत्व कर सकते हैं और वही पार्टी को बचा सकते हैं।
शीला दीक्षित के बेटे  संदीप दीक्षित और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व पर सवाल उठाया है। इतना ही नहीं, उन्होंने पार्टी के स्थायी अध्यक्ष के चुनाव की भी बात कही है। शशि थरूर के इस बयान पर अब संजय निरूपम भी भड़क गए हैं। संजय निरुपम ने कहा है कि केवल और केवल राहुल गांधी ही कांग्रेस पार्टी को बचा सकते हैं।
शशि थरूर और संदीप दीक्षित के बयान पर संजय निरुपम ने कहा, ‘गांधी परिवार से बाहर का कोई भी नेता इस समय कांग्रेस का नेतृत्व नहीं कर सकता है। राहुल गांधी इकलौते ऐसे नेता हैं, जो कांग्रेस का नेतृत्व कर सकते हैं और उसे बचा सकते हैं। हमारे नेता सिर्फ गुटों के नेता हैं और ऐसे नेता सिर्फ गुटबाजी को बढ़ावा देंगे।’  पिछले ही हफ्ते अरविंद केजरीवाल की तारीफ करने को लेकर वरिष्ठ कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा अपनी ही पार्टी के नेता अजय माकन के निशाने पर आ गए थे।
बता दें कि दिल्ली चुनाव में फिर से जीरो पर सिमटने के बाद कांग्रेस पार्टी में उठापटक शुरू हो चुकी है। इसी को लेकर दिल्ली की पूर्व सीएम के बेटे और पूर्व सांसद संदीप दीक्षित ने भी सवाल उठाए हैं। संदीप दीक्षित ने कहा है कि कई महीनों के बाद भी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नया अध्यक्ष नहीं चुन सके हैं। पार्टी के सीनियर नेताओं के बारे में संदीप दीक्षित ने कहा कि कभी-कभार आप निष्क्रियता चाहते हैं क्योंकि आप नहीं चाहते हैं कि कुछ हो।
इससे पहले शशि थरूर ने संदीप दीक्षित की बात का समर्थन करते हुए ट्वीट किया था, ‘संदीप दीक्षित ने जो कहा है वह देशभर में पार्टी के दर्जनों नेता निजी तौर पर कह रहे हैं। इनमें से कई नेता पार्टी में जिम्मेदार पदों पर बैठे हैं। मैं सीडब्ल्यूसी से फिर आग्रह करता हूं कि कार्यकर्ताओं में ऊर्जा का संचार करने और मतदाताओं को प्रेरित करने के लिए नेतृत्व का चुनाव कराएं।’

About admin