Breaking News
Home / स्वास्थ्य / जंक फूड खाने वाले पुरुषों के शुक्राणुओं की संख्या हो जाती है कम

जंक फूड खाने वाले पुरुषों के शुक्राणुओं की संख्या हो जाती है कम

नई दिल्ली : एक नए अध्ययन का कहना है कि ज्यादा जंक फूड खाने से पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या में कमी आ जाती है। इतना ही नहीं, इस अध्ययन का कहना है कि स्वस्थ फूड खाने वालों के मुकाबले जंक फूड खाने वाले पुरुष 25 फीसदी कम तैराक होते हैं। अमेरिका के शोधकर्ताओं ने बताया है कि जिन पुरुषों के डाइट में जंक फूड ज्यादा होता है उनके शुक्राणुओं की संख्या में गिरावट आ जाती है।

शोधकर्ताओं ने जंक फूड और शुक्राणुओं की संख्या के बीच संबंध निकालने के लिए 19 साल के तीन हजार डैनिश पुरुषों का विश्लेषण किया। यह अध्ययन आधुनिक जीवनशैली की तरफ भी इशारा करता है जिसमें युवा काफी ज्यादा जंक फूड पर निर्भर रह रहे हैं। जंक फूड शुक्राणुओं में गिरावट के साथ ही युवाओं को मोटापे से लेकर कई दूसरी घातक बीमारियां भी दे रहा है। अध्ययन कहता है कि पिज्जा,बर्गर और ज्यादा शुगर वाली डाइट लेने वाले युवाओं के शुक्राणुओं की संख्या में 25 फीसदी तक गिरावट आ जाती है। जबकि, फल, सब्जी और मछली को डाइट में शामिल करने वाले युवा स्वस्थ भी रहते हैं और उनके शुक्राणुओं की संख्या भी ठीक रहती है।

अध्ययन में देखा गया कि जंक फूड खाने वाले पुरुषों के शुक्राणुओं की संख्या 12.2 करोड़ थी और वहीं, स्वस्थ्य फूड खाने वाले युवाओं के शुक्राणुओं की संख्या 16.7 करोड़ थी। यह अध्ययन जामा जर्नल में प्रकाशित हुआ है। पश्चिमी देशों में पिछले कुछ सालों से जीवनशैली की अनियमितता की वजह से युवाओं के शुक्राणुओं की संख्या में गिरावट आ रही है। इसे लेकर वक्त-वक्त पर कई तरह के शोध भी सामने आते रहते हैं। अब जो नया अध्ययन सामने आया है इसमें शुक्राणुओं की संख्या में गिरावट के लिए साफ तौर पर जंक फूड को जिम्मेदार ठहराया गया है। यह अध्ययन हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ ने किया है।

About admin