Breaking News
Home / top / लोकसभा में कांग्रेस और BJP सांसदों के बीच हंगामा, स्मृति ईरानी ने कांग्रेस पर लगाए आरोप

लोकसभा में कांग्रेस और BJP सांसदों के बीच हंगामा, स्मृति ईरानी ने कांग्रेस पर लगाए आरोप

नई दिल्‍ली :  केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सोमवार को आरोप लगाया कि लोकसभा में कांग्रेस सांसदों ने भाजपा की महिला सदस्यों के साथ दुर्व्यवहार किया और वह लोकसभा अध्यक्ष के समक्ष इस विषय को उठायेंगी . लोकसभा में सोमवार को विपक्षी सदस्यों ने दिल्ली में पिछले दिनों हुई हिंसा को लेकर गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग करते हुए भारी हंगामा किया और इस दौरान कांग्रेस एवं भाजपा सदस्यों के बीच धक्का-मुक्की भी हुई. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘कांग्रेस सांसदों ने लोकसभा में भाजपा की महिला सदस्यों के साथ दुर्व्यवहार किया. मैं लोकसभा अध्यक्ष से अपील करूंगी कि वह उनके (कांग्रेस सदस्यों) खिलाफ संभव कठोरतम कार्रवाई करें.’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘पिछले दो..तीन सत्र से कांग्रेस के गुंडा तत्व सदन की कार्रवाई में बाधा डाल रहे हैं. स्मृति ईरानी ने कहा कि कांग्रेस सदस्यों का यह कदम गांधी परिवार की हताशा को दर्शाता है. इससे पहले, कांग्रेस सांसद राम्या हरिदास ने लोकसभा में भाजपा सदस्य जसकौर मीणा पर अपने साथ मारपीट करने का आरोप लगाया और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की.

बीजेपी सांसदों ने महिला सांसद पर उठाया हाथः कांग्रेस
कांग्रेस ने दिल्ली हिंसा को लेकर विरोध के बीच सोमवार को लोकसभा में सत्तापक्ष एवं विपक्ष के कुछ सदस्यों के बीच धक्का-मुक्की के बाद भाजपा पर निशाना साधा और दावा किया कि सदन में उसकी दलित महिला सांसद राम्या हरिदास पर सत्ता पक्ष के लोगों ने हाथ उठाया. सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी संसद के भीतर और बाहर दिल्ली हिंसा के मुद्दे को जोरशोर से उठाती रहेगी क्योंकि साजिश का पर्दाफाश करना उसका फर्ज है. उन्होंने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘दिल्ली में हिंसा हुई है और बहुत सारे लोगों की मौत हुई है और अभी भी लाशें मिल रही हैं. देश और विदेश में इसकी चर्चा हो रही है. ऐसे में हमने कार्य मंत्रणा समिति (बीएसी) की बैठक में मांग की थी कि सदन में इस मुद्दे को उठाने का मौका मिलना चाहिए.’

दिल्ली में मिल रही हैं लाशें और सरकार ‘विवाद से विश्वास’ विधेयक लाई हैः अधीर रंजन
चौधरी ने कहा, ‘हमारी यह मांग भी थी कि कौन जिम्मेदार है और किसी गलती से यह हुआ है, इस पर सदन में चर्चा होनी चाहिए. इसी वजह से हमने इस मुद्दे को बार-बार उठाने की कोशिश की. लेकिन सत्तापक्ष की तरफ से बहाना बनाकर हमें अपनी बात रखने का मौका नहीं दिया गया है.’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘जब दिल्ली झुलसी हुई है और लाशें मिल रही हैं तब भी सत्तापक्ष ‘विवाद से विश्वास’ विधेयक लेकर आई. यह ताज्जुब की बात है. हमें बताया भी नहीं गया. हम भी इस विधेयक पर चर्चा चाहते हैं. लेकिन सत्तापक्ष के लोग चर्चा में हमारी नेता के बारे में अनाप-शनाप बातें कर रहे हैं.’

दलित महिला सांसद पर सत्तापक्ष के सांसदों ने उठाया हाथ
उन्होंने कहा, ‘हमारी महिला दलित सांसद पर सत्तापक्ष के लोगों ने हाथ उठाया. वह रोने लगीं. अगर सदन में एक दलित महिला के साथ यह व्यवहार है तो फिर सदन के बाहर क्या स्थिति होगी.’ उधर, राम्या हरिदास ने लोकसभा में भाजपा सदस्य जसकौर मीणा पर अपने साथ मारपीट का आरोप लगाया और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की. दरअसल, लोकसभा में विपक्ष के सदस्यों ने दिल्ली में पिछले दिनों हुई हिंसा के मुद्दे पर गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग करते हुए भारी हंगामा किया और इस दौरान कांग्रेस एवं भाजपा सदस्यों के बीच धक्का-मुक्की भी हुई. हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित करनी पड़ी.

About admin