Breaking News
Home / top / निर्भया गैंगरेप और मर्डर के दोषी पवन की दया याचिका राष्ट्रपति ने की खारिज, नया डेेथ वारंट जारी करने की लगाई याचिका

निर्भया गैंगरेप और मर्डर के दोषी पवन की दया याचिका राष्ट्रपति ने की खारिज, नया डेेथ वारंट जारी करने की लगाई याचिका

नई दिल्ली। निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस के दोषियाें में से एक पवन गुप्ता की दया याचिका राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज खारिज कर दी है। गुनहगारों की फांसी की तारीख याना डेथ वारंट जारी होने का रास्ता साफ हो गया है। दया याचिका खारिज होने के बाद निर्भया के वकील ने आज पटियाला हाउस कोर्ट में याचिका दायर किया है। कोर्ट से गुनहगारों का नया डेथ वारंट जारी करने की मांग की गई है।
सुप्रीम कोर्ट के गाइडलाइन के मुताबिक, दया याचिका खारिज होने के बाद दोषी पवन को 14 दिन का नोटिस मिलेगा। इससे साफ है कि 14 दिन के बाद ही दोषियों को फांसी मिल सकती है।
आपकाे बताते जाए कि वह एकमात्र दोषी था जिसने अब तक दया याचिका नहीं भेजी थी। उल्लेखनीय है कि निर्भया के दोषियों अक्षय सिंह, पवन गुप्ता, विनय कुमार शर्मा और मुकेश कुमार को 3 मार्च को सुबह 6 बजे फांसी होनी थी। लेकिन राष्ट्रपति के पास पवन की दया याचिका होने की वजह से डेथ वारंट पर रोक लगा दी गई थी।

उल्लेखनीय है कि दिसंबर 2012 में राष्ट्रीय राजधानी में एक 23 वर्षीय लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या से संबंधित है, जिसे बाद में निर्भया नाम दिया गया। इस मामले में एक किशोर सहित छह लोगों को आरोपी बनाया गया था। छठे आरोपी राम सिंह ने मामले में मुकदमा शुरू होने के बाद तिहाड़ जेल में कथित रूप से आत्महत्या कर ली। किशोर को 2015 में सुधारगृह में तीन साल बिताने के बाद रिहा कर दिया गया था। अब इस मामले में 4 लोग दोषी बचे हैं।

About admin