Breaking News
Home / top / डोनाल्ड ट्रम्प और नरेंद्र मोदी की मीटिंग में धार्मिक स्वतंत्रता और सीएए-एनआरसी बनेगा अहम मुद्दा

डोनाल्ड ट्रम्प और नरेंद्र मोदी की मीटिंग में धार्मिक स्वतंत्रता और सीएए-एनआरसी बनेगा अहम मुद्दा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अगले हफ्ते होने वाली भारत यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ धार्मिक स्वतंत्रता के मुद्दों पर बातचीत करेंगे। साथ ही वे प्रधानमंत्री से नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और  राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) जैसे गंभीर मुद्दों पर भी बात करेंगे।

सार्वजनिक और निजी दोनों भाषणों में करेंगे बात

व्हाइट हाउस ने शुक्रवार को जानकारी दी कि अमेरिका, भारत की लोकतांत्रिक परम्पराओं और संस्थानों का बहुत सम्मान करता है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कांफ्रेंस कॉल में पत्रकारों से कहा, ‘अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प अपने सार्वजनिक और निश्चित तौर पर निजी, दोनों भाषणों में हमारी साझा लोकतांत्रिक परम्परा और धार्मिक आजादी के बारे में बात करेंगे। वे इन मुद्दों को उठाएंगे, खासतौर से धार्मिक आजादी का मुद्दा, जो इस प्रशासन के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।’

अहमदाबादआगरा और न दिल्ली जाने का कार्यक्रम

अधिकारी से यह पूछा गया था कि क्या नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) पर ट्रंप की प्रधानमंत्री से बात करने की योजना है। ट्रम्प और अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रम्प का 24 और 25 फरवरी को अहमदाबाद, आगरा और नई दिल्ली जाने का कार्यक्रम है।

सीएए और एनआरसी को लेकर चिंतित हैं

अधिकारी ने बताया, ‘हमारी सार्वभौमिक मूल्यों, कानून व्यवस्था को बरकरार रखने की साझा प्रतिबद्धता है। हम भारत की लोकतांत्रिक परम्पराओं और संस्थानों का बड़ा सम्मान करते हैं और हम भारत को उन परम्पराओं को बरकरार रखने के लिए प्रेरित करते रहेंगे।’ सीएए और एनआरसी के सवाल पर वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने कहा, ‘हम आपके द्वारा उठाए कुछ मुद्दों को लेकर चिंतित हैं। मुझे लगता है कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री मोदी के साथ अपनी बैठक में इन मुद्दों को उठाएंगे। दुनिया अपनी लोकतांत्रिक परम्पराओं, धार्मिक अल्पसंख्यकों का सम्मान बनाए रखने के लिए भारत की ओर देख रही है।’

About admin