Breaking News
Home / top / टाटा मैनेजमेंट को NCALT ने दिया झटका, चेयरमैन पद पर साइरस मिस्त्री बहाल

टाटा मैनेजमेंट को NCALT ने दिया झटका, चेयरमैन पद पर साइरस मिस्त्री बहाल

नई दिल्ली। टाटा के मौजूदा प्रबंधन को नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्राइब्यूनल से एक बड़ा झटका लगा है। NCALT ने टाटा सन्स के चेयरमैन पद से साइ‍रस मिस्त्री के हटाने को अवैध ठहरा दिया है और उन्हें इस पद पर फिर से बहाल करने के आदेश दे दिए हैं। हालांकि टाटा समूह के पास इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने का अभी मौका है।

एनसीएलएटी ने एन चंद्रशेखरन को कार्यकारी चेयरमैन बनाने के प्रबंधन के निर्णय को भी अवैध ठहरा दिया है। NCALT ने टाटा सन्स के चेयरमैन पद से साइ‍रस मिस्त्री के हटाने को अवैध ठहराते हुए उन्हें इस पद पर फिर से बहाल करने का आदेश दिए हैं।

यह साइरस मिस्त्री के लिए यह एक बड़ी जीत है। वे तीन साल के बाद फिर से टाटा सन्स के चेयरमैन बनेंगे। नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्राइब्यूनल ( NCALT) ने बुधवार को अपने आदेश में उन्हें फिर से टाटा सन्स का एग्जीक्यूटिव चेयरमैन बनाया जाए।

इसके पहले नेशनल कंपनी लॉ ट्राइब्यूनल (NCLT) के मुंबई बेंच ने साइरस मिस्त्री को हटाने के खिलाफ दायर याचिकाओं को खारिज कर दिया था। मिस्त्री को अक्टूबर 2016 में टाटा सन्स के चेयरमैन पद से हटा दिया, वह टाटा सन्स के छठे चेयरमैन थे। रतन टाटा की रिटायरमेंट की घोषणा के बाद वे साल 2012 में टाटा सन्स के चेयरमैन बने थे।

About admin